26.2 C
Chhattisgarh
Wednesday, December 8, 2021

स्वर्णिम विजय मशाल 12 से 19 अक्टूबर तक..

बिलासपुर राकेश खरे 

 

बिलासपुर – आज के ही दिन सन 1971 में भारत-पाकिस्तान का युद्ध हुआ था.. जिसमें भारत के सैनिकों ने पाकिस्तान को धूल चटाया था.. पाकिस्तानी जनरल मो. नियाजी और 92 हजार से ज्यादा पाकिस्तानी सैनिकों ने आत्म समर्पण कर भारतीय सेना के सामने घुटने टेक दिये थे.. भारतीय सेना के साथ पूरा देश इस युद्ध में भारत की पूर्ण विजय की स्वर्णिम 50 वीं वर्षगाठ मना रहा है।

इसी मौके पर स्वर्णिम विजय मशाल 12 से 19 अक्टूबर तक अमर जवान की ज्वाला और भारतीय सैनिको के शौर्य को लेकर छत्तीसगढ़ में आयेगी.. जो प्रदेश के अलग-अलग क्षेत्रों में जाएगी, इसकी जिम्मेदारी रिटायर्ड सैनिकों की संस्था सिपाही को दी गई है.. संस्था से जुड़े सदस्यों ने आज प्रेस वार्ता कर पूरे कार्यक्रम की जानकारी दी.. उन्होंने छत्तीसगढ़वासियों से ओजपूर्ण विजय मशाल का स्वागत पुष्प बिछाकर व दीप जलाकर सिपाहियों और शहीदों का सम्मान करने की अपील की है।

सिपाही संघ के प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र प्रताप सिंह राणा (संस्था प्रमुख, सिपाही), बिलासपुर सिपाही संघ अध्यक्ष सूबेदार मेजर विजय कौशिक एवम् सभी सिपाही मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

2,466FansLike
5,083FollowersFollow
2,492FollowersFollow
1,890SubscribersSubscribe

Latest Articles

बिलासपुर राकेश खरे 

 

बिलासपुर – आज के ही दिन सन 1971 में भारत-पाकिस्तान का युद्ध हुआ था.. जिसमें भारत के सैनिकों ने पाकिस्तान को धूल चटाया था.. पाकिस्तानी जनरल मो. नियाजी और 92 हजार से ज्यादा पाकिस्तानी सैनिकों ने आत्म समर्पण कर भारतीय सेना के सामने घुटने टेक दिये थे.. भारतीय सेना के साथ पूरा देश इस युद्ध में भारत की पूर्ण विजय की स्वर्णिम 50 वीं वर्षगाठ मना रहा है।

इसी मौके पर स्वर्णिम विजय मशाल 12 से 19 अक्टूबर तक अमर जवान की ज्वाला और भारतीय सैनिको के शौर्य को लेकर छत्तीसगढ़ में आयेगी.. जो प्रदेश के अलग-अलग क्षेत्रों में जाएगी, इसकी जिम्मेदारी रिटायर्ड सैनिकों की संस्था सिपाही को दी गई है.. संस्था से जुड़े सदस्यों ने आज प्रेस वार्ता कर पूरे कार्यक्रम की जानकारी दी.. उन्होंने छत्तीसगढ़वासियों से ओजपूर्ण विजय मशाल का स्वागत पुष्प बिछाकर व दीप जलाकर सिपाहियों और शहीदों का सम्मान करने की अपील की है।

सिपाही संघ के प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र प्रताप सिंह राणा (संस्था प्रमुख, सिपाही), बिलासपुर सिपाही संघ अध्यक्ष सूबेदार मेजर विजय कौशिक एवम् सभी सिपाही मौजूद रहे।