26.2 C
Chhattisgarh
Wednesday, December 8, 2021

हिंदी दिवस के अवसर पर एसईसीएल मुख्यालय में हिंदी पखवाड़ा उद्घाटित..

०० एसईसीएल मुख्यालय में हिंदी पखवाड़ा उद्घाटित..

 

बिलासपुर – एसईसीएल मुख्यालय में दिनांक 14 सितम्बर 2021 को “राजभाषा पखवाड़ा उद्घाटन समारोह” अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक ए.पी. पण्डा की अध्यक्षता, मुख्य सतर्कता अधिकारी बी.पी. शर्मा, निदेशक तकनीकी (संचालन) एम.के. प्रसाद, निदेशक (वित्त सह कार्मिक) एस.एम. चौधरी, निदेशक तकनीकी (योजना/परियोजना) एस.के. पाल, महाप्रबंधक (कार्मिक/प्रशासन) ए.के. सक्सेना, महाप्रबंधक (कार्मिक/कल्याण/सीएसआर) के.एस. जार्ज, विभिन्न विभागाध्यक्षों, अधिकारियों-कर्मचारियों, श्रमसंघ प्रतिनिधियों की उपस्थिति में सम्पन्न हुआ।

इस अवसर पर कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक ए.पी. पण्डा ने कहा कि आज का दिन हम पूरे वर्ष हिंदी में कितना कामकाज करते हैं इसका आत्म-अवलोकन का दिन है। उन्होंने कहा वर्तमान में बोलचाल की भाषा में हिंदी को सर्वस्य अपना लिया गया है। अंत में उन्होंने राजभाषा पखवाड़ा के दौरान आयोजित प्रतियोगिताओं में अधिकाधिक संख्या में भाग लेने का आव्हान किया। मुख्य सतर्कता अधिकारी बी.पी. शर्मा ने कहा कि हिंदी हमें एकसूत्र में पिरोने का कार्य करती है। राजभाषा हिंदी के उन्नयन के लिए उच्च स्तर से जो निर्देश प्राप्त होते हैं उसका अक्षरशः पालन करना चाहिए।

निदेशक तकनीकी (संचालन) एम.के. प्रसाद ने अपने उद्बोधन में कहा कि हिंदी सरल, सुगम, सुबोध, संपर्क व रोजगार की भाषा है इसलिए पूरे देश में इसकी स्वीकार्यता देखने को मिल रही है और यह हमारी एकता और अखण्डता को प्रदर्शित करती है।

निदेशक (वित्त सह कार्मिक) एस.एम. चौधरी ने कहा हिंदी जानदार भाषा है, इसका अपना विशाल शब्दकोष है, सहज भाव से रोजमर्रा के कार्यालयीन कार्य में इसका बेझिझक इस्तेमाल करना चाहिए तथा अन्यों को अधिकाधिक हिंदी में कार्य करने हेतु प्रोत्साहित करना चाहिए।

निदेशक तकनीकी (योजना/परियोजना) एस.के. पाल ने कहा हमें अपने दैनंदीन जीवन में हिंदी का अत्यधिक प्रयोग करना चाहिए।

कार्यक्रम के प्रारंभ में कार्यक्रम अध्यक्ष एवं विशिष्ट अतिथियों द्वारा माँ सरस्वती के चित्र के समीप दीप प्रज्जवलन व माल्यार्पण कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। स्वागत उद्बोधन महाप्रबंधक (कार्मिक/प्रशासन) ए.के. सक्सेना प्रस्तुत किया। कार्यक्रम का संचालन करते हुए प्रबंधक (सचिवीय/राजभाषा) प्रभात कुमार ने राजभाषा पखवाड़ा के आयोजन के उद्धेश्य पर प्रकाश डालते हुए राजभाषा पखवाड़ा के दौरान आयोजित किए जाने वाले विभिन्न कार्यक्रमों का संक्षिप्त विवरण दिया। इस अवसर पर केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह के संदेश का पठन वरिष्ठ प्रबंधक (राजभाषा/सचिवीय) डी.के. जायसवाल, केन्द्रीय कोयला मंत्री प्रल्हाद जोशी के संदेश का पठन वरीय प्रबंधक (राजभाषा/सचिवीय) रघु मेनन एवं चेयरमेन कोलइण्डिया, प्रमोद अग्रवाल के संदेश का पठन उप-प्रबंधक (राजभाषा/जनसंपर्क) श्रीमती सविता निर्मलकर ने किया।

अंत में उपस्थितों को धन्यवाद ज्ञापित जनसंपर्क अधिकारी श्री सनीषचन्द्र ने दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

2,466FansLike
5,083FollowersFollow
2,492FollowersFollow
1,890SubscribersSubscribe

Latest Articles

०० एसईसीएल मुख्यालय में हिंदी पखवाड़ा उद्घाटित..

 

बिलासपुर – एसईसीएल मुख्यालय में दिनांक 14 सितम्बर 2021 को “राजभाषा पखवाड़ा उद्घाटन समारोह” अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक ए.पी. पण्डा की अध्यक्षता, मुख्य सतर्कता अधिकारी बी.पी. शर्मा, निदेशक तकनीकी (संचालन) एम.के. प्रसाद, निदेशक (वित्त सह कार्मिक) एस.एम. चौधरी, निदेशक तकनीकी (योजना/परियोजना) एस.के. पाल, महाप्रबंधक (कार्मिक/प्रशासन) ए.के. सक्सेना, महाप्रबंधक (कार्मिक/कल्याण/सीएसआर) के.एस. जार्ज, विभिन्न विभागाध्यक्षों, अधिकारियों-कर्मचारियों, श्रमसंघ प्रतिनिधियों की उपस्थिति में सम्पन्न हुआ।

इस अवसर पर कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक ए.पी. पण्डा ने कहा कि आज का दिन हम पूरे वर्ष हिंदी में कितना कामकाज करते हैं इसका आत्म-अवलोकन का दिन है। उन्होंने कहा वर्तमान में बोलचाल की भाषा में हिंदी को सर्वस्य अपना लिया गया है। अंत में उन्होंने राजभाषा पखवाड़ा के दौरान आयोजित प्रतियोगिताओं में अधिकाधिक संख्या में भाग लेने का आव्हान किया। मुख्य सतर्कता अधिकारी बी.पी. शर्मा ने कहा कि हिंदी हमें एकसूत्र में पिरोने का कार्य करती है। राजभाषा हिंदी के उन्नयन के लिए उच्च स्तर से जो निर्देश प्राप्त होते हैं उसका अक्षरशः पालन करना चाहिए।

निदेशक तकनीकी (संचालन) एम.के. प्रसाद ने अपने उद्बोधन में कहा कि हिंदी सरल, सुगम, सुबोध, संपर्क व रोजगार की भाषा है इसलिए पूरे देश में इसकी स्वीकार्यता देखने को मिल रही है और यह हमारी एकता और अखण्डता को प्रदर्शित करती है।

निदेशक (वित्त सह कार्मिक) एस.एम. चौधरी ने कहा हिंदी जानदार भाषा है, इसका अपना विशाल शब्दकोष है, सहज भाव से रोजमर्रा के कार्यालयीन कार्य में इसका बेझिझक इस्तेमाल करना चाहिए तथा अन्यों को अधिकाधिक हिंदी में कार्य करने हेतु प्रोत्साहित करना चाहिए।

निदेशक तकनीकी (योजना/परियोजना) एस.के. पाल ने कहा हमें अपने दैनंदीन जीवन में हिंदी का अत्यधिक प्रयोग करना चाहिए।

कार्यक्रम के प्रारंभ में कार्यक्रम अध्यक्ष एवं विशिष्ट अतिथियों द्वारा माँ सरस्वती के चित्र के समीप दीप प्रज्जवलन व माल्यार्पण कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। स्वागत उद्बोधन महाप्रबंधक (कार्मिक/प्रशासन) ए.के. सक्सेना प्रस्तुत किया। कार्यक्रम का संचालन करते हुए प्रबंधक (सचिवीय/राजभाषा) प्रभात कुमार ने राजभाषा पखवाड़ा के आयोजन के उद्धेश्य पर प्रकाश डालते हुए राजभाषा पखवाड़ा के दौरान आयोजित किए जाने वाले विभिन्न कार्यक्रमों का संक्षिप्त विवरण दिया। इस अवसर पर केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह के संदेश का पठन वरिष्ठ प्रबंधक (राजभाषा/सचिवीय) डी.के. जायसवाल, केन्द्रीय कोयला मंत्री प्रल्हाद जोशी के संदेश का पठन वरीय प्रबंधक (राजभाषा/सचिवीय) रघु मेनन एवं चेयरमेन कोलइण्डिया, प्रमोद अग्रवाल के संदेश का पठन उप-प्रबंधक (राजभाषा/जनसंपर्क) श्रीमती सविता निर्मलकर ने किया।

अंत में उपस्थितों को धन्यवाद ज्ञापित जनसंपर्क अधिकारी श्री सनीषचन्द्र ने दिया।